समर्थक

शनिवार, 29 सितंबर 2012

परिचय - महेश्वरी कनेरी





 
   मैं कौन हूँ…? कहाँ से आई हूँ…?
ये सभी अनबुझ प्रश्न हमारे मानस पटल पर अकसर आ-आकर दस्तक देजाते हैं..और हम. शुन्य में ताकते रह जाते हैं,
कभी सोचती  
 ईश्वर की बनाई गई अनुपम कृतियों में से एक हूँ मैं
कभी सोचती
माता-पिता की उम्मीद और विश्वास की एक कण हूँ मैं
जो भी सोचती हूँ बस खुद को तसल्ली  सी दे्ती हूँ
बस इतना ही कह सकती हूँ
खुद को खुद में तलाशती
एक बहती जल धार हूँ मैं
बहना अगर नियति है तो
बहती  ही जाऊँगी ..
मन में उठते भावो को न रोक सकी थी कभी
न अब रोक पाऊँगी
रुकना नही मुझे
 चलना है बस चलते ही जाना है …….
 
नाम-                महेश्वरी कनेरी
जन्म तिथि -.                  २६ नवम्बर १९४७
जन्म स्थान           देहरादून-उत्तराखण्ड़
शिक्षा                 स्नातक
भाषाज्ञान              हिन्दी अग्रे़जी
माता                 स्वर्गीय श्रीमती रुकमणी देवी
पिता-                 स्वर्गीय श्री कुशाल सिंह रजवार
विशेष रुचि-             लिखने पढ़ने के अतिरिक्त संगीत एवं चित्र कला
व्यवसाय-               केन्द्रीय विधालय मे शिक्षिका और मुख्याधिपिका के रुप में रह चुकी,अब सेवा
                    निवृत हूँ
प्रकाशित काव्य संग्रह -   आओ मिल कर गाएं गीत अनेक (बच्चों के लिए)
साझा काव्य संग्रह  -    “टुटते सितारो की उड़ान” “प्रतिभाओं की कमी नहीं”..
अन्य कृतियाँ (कैसेट)     ओडियो कैसेट “गीत नाटिका” संग्रह बच्चों के लिए,  “मूर्तिकार”
 सम्मान-             १- प्रोत्साहन पुरस्कार द्वारा, केन्द्रीय विधालय संगठन १९९४,
                    २- राष्ट्र्पति पुरस्कार,२०००
मेरा ब्लांग-           मुख्य ब्लांग “अभिव्यंजना “
                    निर्माणाधीन ब्लांग- बच्चों के लिए “बाल मन की राहें “
ई-मेल-              maheshwari.kaneri@gmail.com
ब्लांग पता          http://kaneriabhivainjana.blogspot.in

9 टिप्‍पणियां:

  1. महेश्वरी जी के बारे में इतना नहीं जानती थी. आपके इस परिचय ने अपने एक और साथी से परिचित करवाया. इसके लिए धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  2. किसी को जान लेने का दंभ तब समझ में आता है ,
    जब परिचय का हकीकत सामने होता है ...............

    उत्तर देंहटाएं
  3. आदरणीय माहेश्‍वरी जी के बारे में बहुत कुछ जानने का अवसर दिया परिचय की इस श्रृंखला ने आभार

    उत्तर देंहटाएं
  4. maheshwari dee ne jab hamaare blog par pehli baar comment kiya tha to ham pagla gaye the :-) i'm so happy to know her and honoured to be liked by her. she is a great writer and sweet at heart.

    उत्तर देंहटाएं
  5. टिप्पणियों के माध्यम से उन्हें जानती रही हूँ...हमेशा उत्साह बढ़ाती हैं.
    माहेश्वरी दी, आपका परिचय पाकर बहुत अच्छा लगा...रश्मि दी का आभार!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. रश्मि जी आप का बहुत बहुत आभार... खुद को आप के ब्लाँग से जानना बहुत अच्छा लगा..मुझे मान देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद..

    उत्तर देंहटाएं
  7. मैं जिनकी स्थापित पहचान के साथ धीरे धीरे बढ़ रही हूँ,उनके साथ इस यात्रा का अदभुत आनंद मुझे मिल रहा है ... शुक्रगुज़ार हूँ मैं सबकी

    उत्तर देंहटाएं
  8. उनकी रचनाएँ तो पढ़ते रहते हैं.... विस्तृत परिचय पाकर अच्छा लगा ....

    उत्तर देंहटाएं
  9. महेश्वरी जी का यह परिचय मेरे लिए नया है !
    आभार !

    उत्तर देंहटाएं